मंडली
40 साल पहले का नया-नवेला और अलबेला मेडले

40 साल पहले का नया-नवेला और अलबेला मेडले

ये उन दिनों की बात है जब ‘हम किसी से कम नहीं’ की शूटिंग चल रही थी। एक गाने की…
‘साहिब बीबी और गुलाम’ के गुलाम

‘साहिब बीबी और गुलाम’ के गुलाम

विमल मित्रा के एक क्लासिक उपन्यास पर आधारित ‘साहिब बीबी और गुलाम’ पिछली सदी की कुछ बेहतरीन हिंदी फिल्मो में…

भोजपुरी सिनेमा के तीन अध्याय

  अध्याय – एक भोजपुरी सिनेमा की दशा और दिशा के पड़ताल पर यह श्रृंखलाबद्ध लेख लिखते हुए एक दावात्याग…

भोजपुरी सिनेमा के तीन अध्याय – भाग: तीन

… गतांक से आगे 1990 के दशक में आ रहे तथाकथित लोकगीतों के भोजपुरी कसेट्स और वीडियो एलबम में अधिकांश…
14 मार्च 1931: जब मूक फिल्मों को आवाज मिली

14 मार्च 1931: जब मूक फिल्मों को आवाज मिली

भारतीय फिल्मो के बारे में थोड़ी जानकरी रखने वालों से भी यदि पूछा जाए कि पहली फिल्म कौन सी थी…

जब संतूर के शहंशाह ने तबले पर छोड़ी छाप …

बात उन दिनों की है जब पंडित हरि प्रसाद और विश्व विख्यात मशहूर संतूर वादक पंडित शिव कुमार शर्मा सचिन…

भोजपुरी सिनेमा के तीन अध्याय – भाग: दो

… गतांक से आगे 1967-77 के दस साल भोजपुरी सिनेमा एक अदद फिल्म के लिए हहरता रहा, छछनता रहा। पत्थल…

भोजपुरी सिनेमा के तीन अध्याय – भाग: एक

भोजपुरी सिनेमा की दशा और दिशा के पड़ताल पर यह श्रृंखलाबद्ध लेख लिखते हुए एक दावात्याग देना आवश्यक है, वरना…
गौरवान्वित करती वीरगाथा: तानाजी, द अनसंग वॉरियर

गौरवान्वित करती वीरगाथा: तानाजी, द अनसंग वॉरियर

  दीपिका पादुकोण जेएनयू गईं। वहां काफी ‘क्रांतिकारी’ बातें हुईं। देश में क्रांति तो नहीं आई लेकिन ट्विटर पर हाहाकार…

अच्छा हो या बुरा, पर ‘बिग बॉस’ तो है …

आवाज़ में एक अलग जादू होता है। किसी की आवाज़ दिन बना देती है तो किसी की आवाज़ दिन खराब…