मंडली

राकेश रंजन

राकेश रंजन

 

लेखक गद्य विधा में हास्य-व्यंग्य, कथा साहित्य, संस्मरण और समीक्षा आदि लिखते हैं। वह यदा कदा राजनीतिक लेख भी लिखते हैं। अपनी कविताओं को वह स्वयं कविता बताने से परहेज करते हैं और उन्हे तुकबंदी कहते हैं। उनकी रचनाएं उनके अवलोकन और अनुभव पर आधारित होते हैं। उनकी रचनाओं में तत्सम शब्दों के साथ आंचलिक शब्दावली का भी पुट होता है।

 

लेखक ‘लोपक.इन’ के लिए नियमित रुप से लिखते रहे हैं। उनकी एक समीक्षा ‘स्वराज’ में प्रकाशित हुई थी। साथ ही वह दैनिक जागरण inext के स्तंभकार भी हैं। वह मंडली.इन के संपादक है। वह एक आइटी कम्पनी में कार्यरत हैं।

 

ट्विटर संपर्क सूत्र: @rranjan501

 

रचनाएं

अनुराग दीक्षित

अनुराग दीक्षित

एक तकनीकवेत्ता और विपणन विशेषज्ञ होते हुए भी लेखक भावनात्मक कहानियाँ लिखते हैं। इसके अतिरिक्त वह सामाजिक और राजनीतिक मुद्दों पर अपनी बेबाक राय रखते हैं। तकनीक, विज्ञान और अर्थव्यवस्था भी उनके आलेख के विषय हैं।

लेखक की अनेक रचनाएँ ‘ऑप इंडिया’ और ‘लोपक.इन’ पर प्रकाशित हो चुकी हैं। लेखक आइआइटी मुम्बई अलुमनस हैं और संप्रति एक टेक्नोलॉजी कंपनी में कार्यरत हैं। साथ ही वह एक नव-उद्यम के प्रणेता हैं।

ट्विटर संपर्क सूत्र: @bhootnath

रचनाएं

मनीष श्रीवास्तव

मनीष श्रीवास्तव

लेखक मुख्य रूप से भावनात्मक कहानियाँ और मार्मिक संस्मरण लिखते हैं। उनकी रचनाएँ आम बोलचाल की भाषा में होती हैं और उनमें बुंदेलखंड की आंचलिक शब्दावली का भी पुट होता है। लेखक का मानना है कि उनका लेखन स्वयं की उनकी तलाश की यात्रा है।

लेखक ‘मंडली.इन’ के लिए नियमित रुप से लिखते रहे हैं। उनकी रचनाएँ ‘ऑप इंडिया’ में भी प्रकाशित होती रही हैं। उनके प्रकाशित उपन्यास का नाम ‘रूही – एक पहेली’ है। उनका एक अन्य उपन्यास ‘मैं मुन्ना हूँ’ शीघ्र ही प्रकाशित होने वाला है। लेखक एक फार्मा कम्पनी में कार्यरत हैं।

ट्विटर संपर्क सूत्र: @Shrimaan

रचनाएं

मुकुल मिश्र

मुकुल मिश्र

लेखक मुख्य रुप से राजनीतिक आलेख लिखते हैं। उनकी विषयवस्तु समसामयिक राजनीति से लेकर स्वतंत्रता के बाद के भारत का राजनीतिक इतिहास है। वह विषयवस्तु की वस्तुनिष्ठ विवेचना करते हैं। राजनीतिक मुद्दों की गहरी समझ के साथ वह आरएसएस संबंधी मामलों के जानकार समझे जाते हैं।

लेखक नियमित रुप से लोपक.इन के लिए लिखते रहे हैं। उनके लेख ‘द प्रिंट’ में भी प्रकाशित हो चुके हैं। लेखक पेशे से एकाउंटेन्ट हैं।

ट्विटर संपर्क सूत्र: @MukulKMishra

रचनाएं

अंकिता सिंह

अंकिता सिंह

लेखिका कहानियाँ और मुक्त छन्द कविताएँ लिखती हैं। कथा चरित्रों की सजीव कल्पना से उनकी कहानियाँ जीवन्त और मार्मिक बनती है। कहानियों और कविताओं के अतिरिक्त वह जीवन शैली, फैशन और मनोरंजन आदि विषयों पर लिखना पसंद करती हैं। फेमिनिस्ट मुद्दों पर उनके आलेख बिना किसी पूर्वाग्रह के होते हैं।

लेखिका ने लोपक.इन के लिए कई कहानियां और अन्य आलेख लिखे हैं। वह एक बहुराष्ट्रीय कंपनी में कार्यरत हैं।

ट्विटर संपर्क सूत्र: @MissSingh16

रचनाएं

तृषार

तृषार

लेखक पौराणिक और ऐतिहासिक कथा संदर्भों के पार्श्व में सामयिक और दैनिक जीवन की समस्याओं का समाधान ढूँढने की कोशिश करती कहानियाँ लिखते हैं। उनके कुछ वृत्तांत उनकी अनवरत चलने वाली यात्राओं के भाग हैं। इसके अलावा उनकी रुचि लघुकथा, भारतीय मंदिर स्थापत्य और ललित कला से संबद्ध लेखन में भी है। उनकी शब्दावली में तत्सम शब्दों के अतिरिक्त गुजराती और मराठी का पुट भी होता है।

लेखक पेशे से एक फ्रीलांस आइटी कंसलटेंट और डेटाबेस आर्किटेक्ट हैं।

ट्विटर सम्पर्क सूत्र: @wh0mi_

रचनाएं

गरिमा तिवारी

गरिमा तिवारी

लेखिका कहानियाँ, संस्मरण और कविताएँ लिखती हैं। इनकी कहानियाँ कभी मर्म उकेरती हैं, कभी इनसे मृदुल भावनाएँ टपकती है और कभी पलकें भिंगोने वाली करुणा। उनकी रचनाएँ समाचार पत्रों में भी प्रकाशित हो चुकी हैं।

लेखिका पेशे से शिक्षिका हैं और एक कुशल गृहिणी हैं।

ट्विटर संपर्क सूत्र: @Garima1907

रचनाएं

सूर्यांश शर्मा

सूर्यांश शर्मा

 

मंडली का सबसे युवा सदस्य होने के नाते लेखक को मंडली का प्रशिक्षु लेखक कहा जा सकता है। वह अपने छोटे अनुभव को अवलोकन के धागे में पिरोकर कहानियाँ और संस्मरण लिखते हैं। राजनीति में संघ से जुड़े मामलों से उनका गहरा अनुराग है।

लेखक सूचना प्रौद्योगिकी अभियांत्रिकी के छात्र हैं और साथ ही वह मंडली के तकनीकी मामले भी देखते हैं।

ट्विटर संपर्क सूत्र: @SuryaSh8055

रचनाएं